राजस्थान त्रिवेणी संगम,नदी दुर्ग,नदी उद्गम उपनाम सहायक नदियाँ (Rajasthan triveni sangam,Nadi Durg,Nadi udgam,Upanam,sahayak nadiya)

Rajasthan-Nadiya

त्रिवेणी संगम एक नजर
(Triveni Sangam at a glance)

क्र.सं.➡️ स्थान ➡️ जिला ➡️ नदीयाँ
1. ➡️ बेणेश्वर ➡️ डूंगरपुर ➡️ सोम, माही, जाखम
2. ➡️ रामेश्वर ➡️ सवाई माधोपुर ➡️ चम्बल, बनास, सीप
3. ➡️ बीगोद ➡️ भीलवाड़ा ➡️ बनास, बेड़च, मेनाल
4. ➡️ राजमहल ➡️ टोंक ➡️ बनास, डॉई, खारी
5 ➡️ देवधाम,जोधपुरिया➡️ टोंक ➡️ बनास, माशी, बांडी


नदियों के तट पर स्थित दुर्ग
(Fortress on the banks of rivers)

क्र.सं.➡️ दुर्ग ➡️ नदीयाँ ➡️ जिला

1. ➡️ मनोहरथाना दुर्ग ➡️ परवन, कालीखोह ➡️ झालावाड

2. ➡️ गागरोन दुर्ग ➡️कालीसिंध, आहू ➡️ झालावाड़

3. ➡️ चित्तौड़गढ़ दुर्ग ➡️ बेड़च, गम्भीरी ➡️ चित्तौड़गढ़

4. ➡️ भैसरोड़गढ़ दुर्ग ➡️ चम्बल, बामनी ➡️ चित्तौड़गढ़

5. ➡️ कोटा दुर्ग ➡️ चम्बल ➡️कोटा

6. ➡️ शेरगढ़ दुर्ग ➡️ परवन ➡️ बारां

 7. ➡️भटनेर दुर्ग ➡️ घग्घर ➡️ हनुमानगढ़


राजस्थान की नदियाँ उद्गम, समापन, सहायक नदीयाँ व उपनाम : एक नजर

(Rivers of Rajasthan Origin, Completion, Tributaries and Surnames: A Look)

1.चम्बल – लम्बाई ➡️ 966 KM
उद्गम ➡️ मध्यप्रदेश में महू के समीप जनापाव की पहाड़ियाँ
समापन ➡️ मुरादगंज जिला इटावा (उ.प्र.) के समीप यमुना नदी में
सहायक नदीयाँ ➡️ नीमाज,,चाकण, मेंजा/मेंज,आहु, बामणी,आलणीयां, पार्वती,
कालीसिंध,कुनू ,परवन

उपनाम ➡️ मांगली,कामधेन, नित्यवाही नदी,चर्मण्वती, बारहमासी

2. बनास – लम्बाई ➡️ 480 KM
उद्गम ➡️ खमनोर की पहाड़ियाँ (राजसमन्द)
समापन➡️सवाईमाधोपुर में खण्डार के पास चम्बल में
सहायक नदीयाँ ➡️मांशी, मोरेल, खारी,कोठारी, बेड़च,मेनाल डाई
उपनाम ➡️वन की आशा, वशिष्ट नदी, वर्णनाशा, वनाशा |

3. माही – लम्बाई ➡️ 576 KM

उद्गम ➡️ विन्धयाचल पर्वत में मेहद झील (M.P.)

समापन➡️खम्भात की खाड़ी

सहायक नदीयाँ ➡️ऐरावती, अनास, मोरेल, सोम, जाखम, चाप, हरण

उपनाम ➡️बागड़ प्रदेश की गंगा , कांठल की गंगा, द.राज. की जीवनरेखा, आदिवासियों

की गंगा, द.राज. की स्वर्णरेखा |

4. लूणी – लम्बाई ➡️ 495 KM
उद्गम ➡️ नाग पहाड़ (अजमेर)

समापन ➡️कच्छ का रन

सहायक नदीयाँ ➡️जवाई, सुकड़ी, मीठड़ी, बाँड़ी, खारी, सागी, जोजड़ी

उपनाम ➡️ लवणवती, मारवाड़ की जीवनरेखा, मरूस्थल की गंगा, अन्तःसलीला,

रेल/नेड़ा, सागरमती |


5. साबरमती – लम्बाई ➡️ 416 KM
उद्गम ➡️ कोटड़ा (उदयपुर)
समापन ➡️ खम्भात की खाड़ी |

6. घग्घर – लम्बाई ➡️ 465 KM
उद्गम ➡️ शिवालिक पर्वत श्रेणियों से कालका पहाड़ी हिमाचल से
समापन ➡️ अनुपगढ़ (श्रीगंगानगर)
उपनाम ➡️ मृत नदी, नट नदी, नाड़ी, राज. का शोक, सरस्वती नदी, पाक में हकरा,
पंजाब में चितांग |

7. बाणगंगा – लम्बाई ➡️ 380 KM
उद्गम ➡️ बैराठ (जयपुर)
समापन ➡️आगरा व मथुरा के बीच यमुना नदी में
उपनाम ➡️अर्जुन की गंगा, ताला नदी, रूण्डित नद |

8. कालीसिंध – लम्बाई ➡️ 278 KM
उद्गम ➡️ बागली गाँव देवास (मृ.प.)
समापन ➡️ कोटा के समीप नोनेरा में चम्बल नदी में |

9. खारी – लम्बाई ➡️192 KM
उद्गम ➡️ बिजराल की पहाड़ियाँ (राजसमन्द)
समापन ➡️देवली के निकट चोसला गाँव के पास बनास में |

10. बेडच – लम्बाई ➡️ 190 KM
उद्गम ➡️ गोगुन्दा की पहाड़ियाँ (उदयपुर)
समापन ➡️ बनास नदी में मातृकुण्डिया के पास
उपनाम ➡️ उदयसागर झील से पूर्व आयड़ |

11. जोजड़ी – लम्बाई ➡️ 150 KM
उद्गम ➡️ पोडलू गाँव की पहाड़ियाँ (नागौर)
समापन ➡️ जोधपुर में लूणी नदी में


12. कोठारी – लम्बाई ➡️ 145 KM
उद्गम ➡️ दिवेर के पास सादड़ी गाँव (राजसमन्द)
समापन ➡️भीलवाड़ा जिले में बनास नदी में |

13. सूकड़ी – लम्बाई ➡️ 100 KM
उद्गम ➡️ पाली
समापन ➡️ बाड़मेर (समदड़ा) में लुणी नदी में |

14. कांतली लम्बाई ➡️ 100 KM
उद्गम ➡️ खण्डेला की पहाड़ियाँ (सीकर)
समापन ➡️ झुन्झुनु में चुरू की सीमा पर |

15. जवाई – लम्बाई ➡️ 96 KM
उद्गम ➡️ बाली के निकट गोरिया गाँव
समापन ➡️ बाड़मेर में लूनी नदी में

16. काँकनी – लम्बाई ➡️17 KM
उद्गम ➡️ कोठारी गाँव (जैसलमेर)
समापन ➡️ बुझ झील (जैसलमेर)
उपनाम ➡️ काकनेय, मसूरड़ी, मसूरदी नदी

17. सहोदरा – उद्गम ➡️ श्रीनगर की पहाड़ियां अजमेर
समापन ➡️ गहलोद घाट (टोंक) के पास बनास में
उपनाम ➡️ कृष्ण की बहिन

18. बामनी – उद्गम ➡️ हरिपुरा गांव की पहाड़ियां चित्तौड़गढ़
समापन ➡️ केशोराय पाटन के पास चम्बल में


Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,373FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles