Jaisalmer (जैसलमेर) District Jila Darshan

जैसलमेर

Jaisalmer (जैसलमेर) District Jila Darshan
jaisalmer-tehsil-map

➤ प्राचीन नाम  = मांड, मांडधरा, वल्लमण्डल

➤ उपनाम = राजस्थान की स्वर्णनगरी, हवेलीयो का नगर, झरोखो की नगरी, म्युजियम सिटी, रेगीस्तान का गुलाब, राजस्थान का अण्डमान, पंखो की नगरी, पीले पत्थरो का शहर ।

 संस्थापक = जैसल भाटी

परिचय



जैसलमेर को मांडधरा की राजधानी भी माना जाता है । इसकी स्थापना 1156 ईं. मे यदूवंशी राजा जैसल भाटी ने की । जैसलमेर के भाटी राजपूतो की प्रथम राजधानी तनोट, दूसरी लोद्रवा व तीसरी जैसलमेर रही । यह क्षेत्र 18 मई 1974 व 11 मई 1998 मे पोकरण मे किए गए भूमिगत परमाणु परिक्षणों के कारण भी जाना जाता है । यहां का लोक नृत्य हिण्डो या हिण्डोल्या है।

स्थान विशेष 

✪ सोनार का किला = इसे त्रिकुटगढ़ भी कहते है । यह एक त्रिभुजाकार पहाडी पर स्थित है । इसे विश्व धरोहर मे शामिल किया गया है । इसने परचा बावडी व जैसलु कुंआ प्रसिद्ध है । यह 250 फीट उंचा है । यहां लक्ष्मीनाथ का मन्दिर सोने व चान्दी के कपाटो के कारण प्रसिद्ध है । इस किले पर राज्य सरकार द्वारा डाक टिकीट भी जारी किया गया है। 
✪  पोकरण का किला = 1550 मे इसका निर्माण राव मालदेव ने करवाया। यह स्थान रामदेव जी के गुरूकुल के रूप मे प्रसिद्ध है।
✪  पटवो की हवेली = यह हवेली गुमानचन्द व उनके पुत्रो द्वारा निर्मित है।
✪  गडसीसर जलाशय = 1340 मे इसका निर्माण रावल गडसीसिंह ने करवाया। 1965 से पहले यह यहां का प्रमुख पेयजल स्रोत था।

✪  बादल विलास व जवाहर विलास = 20 वी सदी मे इसका निर्माण महारावल जवाहर सिंह ने करवाया था। 

✪  बडाबाग = शहर से 5 किमी. दुर रामगढ रोड पर स्थित इस स्थान पर जैसलमेर के महारावलो के श्मशान व स्मारक है ।

✪  मूलसागर = मूलराज द्वारा निर्मित इस स्थान पर कृत्रिम झरने बने है। 

✪  गजरूप सागर = गजसिंह द्वारा निर्मित इस स्थान पर भारती बाबा का मठ व इसके पास ही स्थित पहाडी पर स्वांगिया माता का मन्दिर है। 

✪  वुड फॉसिल पार्क = बाडमेर मार्ग पर 10 किमी. दुर स्थित आकलगांव मे बना जीवाश्म पार्क जिसमे 18 करोड वर्ष पुराने जीवाश्म है। 

✪ मरू मेला = 1979 से पर्यटन विभाग द्वारा आयोजित करवाए जाने वाले इस मेले का आयोजन प्रतिवर्ष माघ सुदी तेरस से पूर्णिमा के मध्य होता है।

✪  बागेवाला = यहां पर वेनेजुएला के साथ आँयल इयिडया लि. तेल के दोहन की शुरूआत की ।

✪  तनोट = सेना की देवी तनोटीया माता का मन्दिर, थार की वैष्णो देवी, भाटी शासको की कुलदेवी, राज्य के प्रथम तेल के कुंए की खोज तनोट मे ही की गई। 
✪  रामगढ = यहां एशिया का सबसे उंचा टी.वी. टावर है। यहीँ प्राकृतिक गैस आधारित एक शक्ति परियोजना संचालित है। 

👉 Economic and social development 25 Questions #1
✪  शाहगढ = यह क्षेत्र चीता पुर्नवास योजना के लिए चुना गया है तथा फोकस एनर्जी कम्पनी को यहां गेस का देश मे सबसे बडा भण्डार मिला है। 

✪  सम = यह क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बडी पंचायत समिति है तथा वनस्पति रहित क्षेत्र है। 
✪  पोकरण = यहां विश्व का सबसे बडा भूमिगत पुस्तकालय है तथा यहां राज्य का पहला विपेज रिसोर्स सेंटर है। यहां राज्य का प्रथम पारा बैंक है।  यहीँ देश का प्रथम भू वैज्ञानिक संग्रहालय है। यहां पर ही दो परमाणु परीक्षण 1974 व 1998 मे किए गए।  
✪  चांदन = यहां पर चान्दन नलकूप है जिसे थार का घड़ा कहते है।  
✪  सानु = यहां स्टील ग्रेड वाला चुना पाया जाता है। 

✪  घोटारू = यहां हीलीयम गैंस के भण्डार मिले है।  
✪  रत्नेश्वर महादेव = 1441 मे महारावल वैरिसिंह द्वारा अपनी पत्नी की स्मृती मे निर्मित करवाया गया।  
✪  हिगंलाज देवी का मन्दिर = बिस्सो की बगीची के सामने स्थित है। ये एकमात्र ऐसी लोकदेवी है जो पाकिस्तान में भी पुजी जाती है। 
✪  स्वांगिया माता/ सुग्मा माता/सांगिया माता = जैसलमेर के भाटी शासको की कुलदेवी। 
✪  ओला = इस क्षेत्र मे 60 हजार से 1 लाख वर्ष पुराने पाषाणकालीन सामान मिले है।

✪  रूणेचा = यहां रामदेव जी का विशाल मेला लगता है जिसे मारवाड़ का कूम्भ भी कहते है।

व्यक्ति विशेष

✪  सागरमल गोपा = जैसलमेर में जन्मे गोपा द्वारा महारावल जवाहरसिंह का विरोध करने पर उन्हे अप्रैल 1946 जेल ने मिट्टी का तेल छिढ़क कर जला दिया गया।

होटल 

➤ आर.टी.डी.सी. होटल = मूमल, समढाणी

हवेलियां = पटवो की हवेली, सालमसिंह की हवेली, नथमल की हवेली

नदी विशेष

✪  कांकती = इसे कांकनेय व मसूरदी उपनामो से भी जाना जाता है। यह आंतरिक प्रवाह की सबसे छोटी नदी है। इसकी लम्बाई. 17 किमी. है।  इसका उदगम कोटडी गांव से होता है यह बुझ झील को जल देती हुई मीठा खाडी मे विलुप्त हो जाती है।

झीलें

✪  कावोद = इस झील का नमक आयोडीन की दृष्टि से सर्वश्रेष्ठ है।

✪  पोकरण यह रन झील का ही एक रूप है ।

प्रमुख महोत्सव

✪  मरू महोत्सव = इसका आयोजन जनवरी व फरवरी मे होता है।

✪  आखेट निषिद्ध क्षेत्र = रामदेवरा व उज्जला 

खनिज

जिप्सम, चुना पत्थर, रॉक फास्फेट , चीनी मृतिका / चाइनाक्ले, मुल्तानी मिट्टी, खनिज तेल,

भारी तेल = बाघेवाला मे
सौर ऊर्जा = पोकरण मे 6 संयंत्र , नाथना मे 7 संयंत्र, फतहगढ़ मे 1 संयंत्र

राज्य का पहला सौर उर्जा रेफ्रीजरेटर जवाहर – चिक्तिसालय, जैसलमेर मे लगाया गया

सेज द्वारा राज्य को सौर उर्जा उद्यमी क्षेत्र की संज्ञा दी गई  Solar energy enterprising Zone(SEEZ)

पवन ऊर्जा  = राज्य का सबसे बडा पवन उर्जा संयंत्र सोढा बांधन है। यहां 25 मेगावाट विद्युत उत्पादन होता है। राज्य की पहली निजी क्षेत्र की पवन उर्जा विद्युत शक्ति परियोजना 2001 मे बडा बाग मे स्थापित की गई भारत का दुसरा पवन उर्जा पार्क लोद्रवा मे है जबकी पहला यू. पी. के कड़प्या जिले के गाण्डीकाटा मे है।

जिला विशेष

➥ यहां की जनसंख्या 6.7 लाख है तथा यहा का जनसंख्या घनत्व 17 है जो सबसे कम है व अरूणाचल के बराबर है।

➥ यहां की दशकीय वृद्धी 31 प्रतिशत है ।

➥ यहां से केवल एक विधानसभा सीट है ।

➥ यह सबसे गर्म जिला है व सर्वाधिक बंजर भूमि भी यहां पर ही है।

 यहां के मिरासी, मांगणियार, लंगा जाति के लोक कलाकार अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध है।

➥ यहां की लाठी सीरीज क्षेत्र की भी विशेष पहचान है यह एक भूगर्भिय जल पटटी है जहां सेवण घास पाई जाती है।

➥ नाचना के ऊंट सर्वश्रेष्ठ नस्ल के होते है । 

 पालीवाल ब्राह्मणो द्वारा जल संग्रहण की अपनायी जाने वाली तकनीक खडीन कहलाती है ।
➥ यह रम्मत लोक नाटय शैली का आरम्भिक स्थल है। यहां पर बिना इसर के गंवर की पूजा होती है।

 थारपारकर नस्ल की गाय यहीं पाई जाती है।

➥  देश का प्रथम चारा बैंक जैसलमेर मे है। 

 वार्षिक वर्षा की मात्रा मे अत्यधिक उतार चढाव वाला जिला। 

 यहां के किले के बारे मे यह कहा जाता है कि केवल पत्थरो की टांग ही आपको वहॉ ले जा सकती है। 

 क्षेत्रफल की दृष्टि से यह राज्य का सबसे बडा जिला है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,432FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles