Notice: Function amp_has_paired_endpoint was called incorrectly. Function called while AMP is disabled via `amp_is_enabled` filter. The service ID "paired_routing" is not recognized and cannot be retrieved. Please see Debugging in WordPress for more information. (This message was added in version 2.1.1.) in /home/u793807974/domains/haabujigk.in/public_html/wp-includes/functions.php on line 5835

Notice: Function amp_has_paired_endpoint was called incorrectly. Function called while AMP is disabled via `amp_is_enabled` filter. The service ID "paired_routing" is not recognized and cannot be retrieved. Please see Debugging in WordPress for more information. (This message was added in version 2.1.1.) in /home/u793807974/domains/haabujigk.in/public_html/wp-includes/functions.php on line 5835

Notice: Function amp_has_paired_endpoint was called incorrectly. Function called while AMP is disabled via `amp_is_enabled` filter. The service ID "paired_routing" is not recognized and cannot be retrieved. Please see Debugging in WordPress for more information. (This message was added in version 2.1.1.) in /home/u793807974/domains/haabujigk.in/public_html/wp-includes/functions.php on line 5835
आमेर शासक मान सिंह प्रथम (Amer Shasak Man Singh I) - gk website
Notice: Function amp_has_paired_endpoint was called incorrectly. Function called while AMP is disabled via `amp_is_enabled` filter. The service ID "paired_routing" is not recognized and cannot be retrieved. Please see Debugging in WordPress for more information. (This message was added in version 2.1.1.) in /home/u793807974/domains/haabujigk.in/public_html/wp-includes/functions.php on line 5835

Notice: Function amp_has_paired_endpoint was called incorrectly. Function called while AMP is disabled via `amp_is_enabled` filter. The service ID "paired_routing" is not recognized and cannot be retrieved. Please see Debugging in WordPress for more information. (This message was added in version 2.1.1.) in /home/u793807974/domains/haabujigk.in/public_html/wp-includes/functions.php on line 5835

Notice: Function amp_has_paired_endpoint was called incorrectly. Function called while AMP is disabled via `amp_is_enabled` filter. The service ID "paired_routing" is not recognized and cannot be retrieved. Please see Debugging in WordPress for more information. (This message was added in version 2.1.1.) in /home/u793807974/domains/haabujigk.in/public_html/wp-includes/functions.php on line 5835
Home Uncategorized आमेर शासक मान सिंह प्रथम (Amer Shasak Man Singh I)

आमेर शासक मान सिंह प्रथम (Amer Shasak Man Singh I)

0
1467

Notice: Function amp_has_paired_endpoint was called incorrectly. Function called while AMP is disabled via `amp_is_enabled` filter. The service ID "paired_routing" is not recognized and cannot be retrieved. Please see Debugging in WordPress for more information. (This message was added in version 2.1.1.) in /home/u793807974/domains/haabujigk.in/public_html/wp-includes/functions.php on line 5835

Notice: Function amp_has_paired_endpoint was called incorrectly. Function called while AMP is disabled via `amp_is_enabled` filter. The service ID "paired_routing" is not recognized and cannot be retrieved. Please see Debugging in WordPress for more information. (This message was added in version 2.1.1.) in /home/u793807974/domains/haabujigk.in/public_html/wp-includes/functions.php on line 5835

 आमेर शासक मान सिंह प्रथम (सन् 1589-1614)
(Amer Shasak Man Singh I)

Amer-Manshing
Amer-Manshing

✔️ भगवान दास की मृत्यु के उपरान्त मान सिंह प्रथम आमेर का शासक बना ।
✔️ भगवान दास ने अपनी पुत्री मान बाई जिसे मुगल काल में सुल्तान निस्सा के नाम से जाना जाता है, का विवाह अकबर के पुत्र सलीम अर्थात जहाँगीर के साथ किया जिससे खुसरो नामक पुत्र का जन्म हुआ । खुसरो ने अपने पिता जहांगीर के विरूद्ध विद्रोह कर दिया अतः जहांगीर ने खुसरों को अंधा करवा दिया तथा मान बाई ने खुसरो की हत्या करवा दी ।
नोट :- मानबाई को इतिहास की प्रथम पुत्रहन्ता महिला माना जाता है । अन्त में मान बाई ने भी सलीम (जहांगीर) की आदतों से तंग आकर अफीम की गोलियां खाकर आत्महत्या कर ली ।
✔️ अकबर ने 1581 से 1587 तक मानसिंह प्रथम को काबुल (Kabul) का सूबेदार नियुक्त किया । इस समय मान सिह ने काबुल के शासक मिर्जा हाकिम को पराजित किया । सन् 1587 से 1594 तक मान सिंह प्रथम बिहार (Bihar) का सुबेदार रहा, इस दौरान मान सिंह प्रथम ने बिहार के शासक परणमल को पराजित किया ।
✔️ सन् 1592 में मान सिंह प्रथम ने उड़ीसा (Udisha) को पराजित किया तथा यहाँ के शासक नासिर खाँ को पराजित किया । सन् 1594 से 1605 तक बंगाल का सुबेदार रहा, इस दौरान उसने बंगाल के शासक लक्ष्मीनारायण तथा केदार नाथ को पराजित किया ।
नोट :- बंगाल अभियान के दौरान मान सिंह प्रथम के तीन पुत्र जगत सिह, हिम्मत सिह, दुर्जन सिह मारे गये थे ।
नोट :- मान सिंह प्रथम की रानी कनकावती ने अपने पुत्र जगत सिंह की स्मृति में आमेर में जगतशिरोमणी मन्दिर का निर्माण करवाया । इस मन्दिर में कृष्ण की काले रंग की वही मूर्ति है जिसकी मीरा बाई पूजा किया करती थी ।
नोट :- मान सिंह प्रथम के पुत्र जगत सिंह ने कांगड़ा के शासक कलाल खाँ को पराजित किया था, इससे प्रसन्न होकर अकबर ने जगत सिंह को “रायजादा” की उपाधि प्रदान की थी ।
नोट :- आमेर के शासक मान सिंह प्रथम बंगाल के तत्कालीन शासक केदारनाथ (Kedaranath)को पराजित करके शीलादेवी की प्रतिमा को बंगाल से लाकर आमेर में स्थापित करवाया । शिलादेवी को जयपुर के शासकों की इष्ट देवी माना जाता है जबकि आमेर रियासत की कुलदेवी/आराध्य देवी जमुवाय माता (जमवारामगढ़, जयपुर) (Jamvaramgard, Jaipur) को माना जाता है । जमवाई माता मन्दिर का निर्माण कच्छवाहा वंश के संस्थापक दूल्हेराय ने करवाया था ।
नोट :- गुलाब (Rose) उत्पादन के कारण जमवा रामगढ़ को ढुढ़ाड का पुष्कर कहा जाता है ।
✔️ हल्दीघाटी के युद्ध में मुगल सेनाओं का नेतृत्व आमेर के मान सिंह प्रथम द्वारा किया गया, ऐसा करने वाला वह प्रथम हिन्दू शासक था । प्रारम्भ में अकबर ने मान सिंह प्रथम को 5000 का मनसब प्रदान किया परन्तु आगे चलकर इसे बढ़ाकर 7000 कर दिया था, जो कि कच्छवाह शासकों में सर्वाधिक था ।
नोट :- अकबर ने आमेर के मान सिंह प्रथम को फर्जन्द (पुत्र), तथा राजा की उपाधि प्रदान की ।
✔️ मेवाड के शासक महाराणा प्रताप ने मान सिंह के लिये पिछोला झील (Pichhola Lake) के तट पर रात्रि भोज का आयोजन किया था । मान सिंह प्रथम तथा कुवर अमर सिंह की मुलाकात पिछोला झील की पाल पर हुई थी ।
✔️ सन् 1614 में दक्षिण के एलिचपुर नामक स्थान पर मान सिंह प्रथम की मृत्यु हो गई ।
✔️ मान सिंह प्रथम ने बिहार प्रान्त के पटना (Patna) जिले में बेरटपुर नामक स्थान पर भवानीशंकर मन्दिर का निर्माण करवाया, जिसमें गणेश, शिव तथा मातृदेवी की प्रतिमा स्थापित है ।
✔️ मान सिंह प्रथम ने बिहार के गया (Gaya) नामक स्थान पर भी एक मन्दिर का निर्माण करवाया व बिहार में रोहताशगढ़ (Rohatashgard) के भव्य महलों का निर्माण करवाया ।
✔️ सन् 1612 में मान सिंह प्रथम ने रामगढ़ दुर्ग का निर्माण करवाया | मान सिंह प्रथम ने बैराठ की पहाड़ियों में पंचमहला या पंचमहल का निर्माण करवाया । यहां अकबर ने अजमेर तीर्थयात्रा से लोटते समय विश्राम किया था ।
नोट :- मानसिंह प्रथम ने पुष्कर में मानमहल का निर्माण करवाया, जहाँ वर्तमान में आर.टी.डी.सी. होटल संचालित किया जा रहा है ।

मानसिंह प्रथम तथा साहित्य

✔️ प्रसिद्ध कवि हापा बारहठ तथा दादू दयाल जी मान सिंह प्रथम के समकालीन थे । मान सिंह प्रथम के आश्रित कवि दलपत राज ने पत्र-प्रश्स्ति तथा पवन पश्चिम नामक ग्रन्थों की रचना की है ।

✔️ मुरारीदान मान सिंह प्रथम का दरबारी कवि थे जिन्होने मानप्रकाश नामक ग्रन्थ लिखा है । प्रसिद्ध कवि पण्डित जगन्नाथ भी मान सिंह प्रथम के दरबार को सुशोभित करते थे । पण्डित जगन्नाथ ने मानसिंह कीर्ति मुक्तावली नामक ग्रन्थ लिखा है ।

✔️ तुलसीदास जी भी मान सिंह प्रथम के समकालीन थे ऐसा माना जाता है कि तुलसीदास जी तथा मान सिंह प्रथम में घनिष्ठ मित्रता थी । यह भी माना जाता है कि मान सिंह प्रथम के पुत्र जगत सिंह को तुलसीदास जी ने ही पढ़ाया था ।

नोट :- मान सिंह प्रथम ने आमेर के भव्य महलों का निर्माण करवाया ।

नोट :- पुण्डरिक विट्ठल मान सिंह प्रथम के भाई माधों सिंह का दरबारी कवि था । माधों सिंह की राजधानी अलवर जिले में स्थित भानगढ़ कस्बा था । यह कस्बा वर्तमान में पुरी तरह उजड़ चुका है, अब इसे खण्डहरों की नगरी के रूप में जाना जाता है ।

✔️ पूण्डरिक विट्ठल ने रागमाला, राग चन्द्रोदय, नर्तन निर्णय तथा दुनी प्रकाश जैसे महत्वपूर्ण ग्रन्थों की रचना की है ।

✔️ मान सिंह प्रथम ने बंगाल में अकबर के नाम पर अकबर नगर नामक कस्बा बसाया जिसे वर्तमान में राजमहल भी कहा जाता है ।

✔️ मान सिंह प्रथम ने अपने नाम पर बिहार में मानपूर नगर बसाया

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here


Notice: Function amp_has_paired_endpoint was called incorrectly. Function called while AMP is disabled via `amp_is_enabled` filter. The service ID "paired_routing" is not recognized and cannot be retrieved. Please see Debugging in WordPress for more information. (This message was added in version 2.1.1.) in /home/u793807974/domains/haabujigk.in/public_html/wp-includes/functions.php on line 5835

Notice: Function amp_has_paired_endpoint was called incorrectly. Function called while AMP is disabled via `amp_is_enabled` filter. The service ID "paired_routing" is not recognized and cannot be retrieved. Please see Debugging in WordPress for more information. (This message was added in version 2.1.1.) in /home/u793807974/domains/haabujigk.in/public_html/wp-includes/functions.php on line 5835

Notice: Function amp_has_paired_endpoint was called incorrectly. Function called while AMP is disabled via `amp_is_enabled` filter. The service ID "paired_routing" is not recognized and cannot be retrieved. Please see Debugging in WordPress for more information. (This message was added in version 2.1.1.) in /home/u793807974/domains/haabujigk.in/public_html/wp-includes/functions.php on line 5835